इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 26 मार्च 2011

बुलबुल की शरारतें

बुलबुल जी का जुगाड , दिन भर पानी से खेलने का

अगर पैर न पहुंचते हों तो आप उसे ऐसे उचकाएं

देखिए संतुलन बना रहना चाहिए और हां पापा मम्मी को न पता चले बिल्कुल भी 




                                                      अब जरा आगे बढते हैं और देखते हैं कि बुलबुल पंडित
                                                      जी आगे कौन सी खुराफ़ात में लगे हैं

लो किचन स्लैब पर बिठाया तो फ़िर शुरू


13 टिप्‍पणियां:

  1. अरे, देखिये..कहीं गिरे न...नीला वाला में पानी नहीं आ रहा है क्या....


    मस्ती है फुल्ल!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा नीला वाला टाईट नलका है समीर भाई , इसलिए उसका जुगाड यही है , पूछिए मत पूरे दिन घर में एक चिडिया की तरफ़ फ़ुदकती फ़िरती है ..

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया मेरी गुडिया भी इसके उम्र की हें बहुत शरारत करती हें पहला ब्लॉग अग्रीगेटर टूलबार

    उत्तर देंहटाएं
  4. अरेए ए ए ए ए ए ए ए ए .............@ अजय जी आप भी न...ये क्या करते है ...उसे ऐसा न करने दें,,,वो गिर जाएगी तो आपकी तो फ़िर से एक पोस्ट तैयार हो जाएगी...

    उत्तर देंहटाएं
  5. अर्चना जी ,हा हा हा नहीं जी अब हमने उसका जुगाड ही छिपा दिया है ..जब से वो पकडी गई है ये खुराफ़ात करते हुए ..शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  6. :D :D
    जियो बुलबुल...पापा को ऐसे ही एकदम परेसान करते रहो...बहुत ज्यादा...बहुत ज्यादा...परेसान करो....:) :)
    और खूब मस्ती करो ;)

    उत्तर देंहटाएं
  7. बच्चों को मस्ती करने से कभी न रोकें..बस ध्यान रखें वह भी चुपके से :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा बुलबुल तो एकदम मस्त है...... बच्चों के ये सब तरीके और पानी से लगाव...... बहुत प्यारे लगते है.....

    उत्तर देंहटाएं
  9. aree wah ye bulbul to badi chulbul hai...meri beti bhi yahi karti thi...fir maine ek choti si table la kar rakh di...in bahccho ki shaitaniyan to rukne wali nahi safety ka dhyan to hame hi rakhna padega...

    khub masti karo beta...

    blessings.

    उत्तर देंहटाएं
  10. आहा छप छप..... मजेदार है मस्ती के फोटो

    उत्तर देंहटाएं