इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शुक्रवार, 27 जनवरी 2012

जोर लगा के हईशा ....चमको रे दंतु चमको




जैसा कि आप इस ब्लॉग की कई पोस्टें देख चुके हैं और फ़ोटो के माध्यम से मैं आपको दिखाता बताता रहा हूं कि हमारे घर की नई मास्टर ....मास्टर बुलबुल अपने अनोखे करतबों से हमें बताती समझाती है कि ,कंप्यूटर कैसे चलाते हैं , मिकि माऊस को कैसे नहलाते हैं और आज देखिए कि अपने दंतू को कैसे चमकाया जाता है ...स्टेप बाय स्टेप कंठस्थ करें


पहले कुर्सी पर आराम से अपने पांव जमा के निरीक्षण कर लें

फ़िर क्या ...ईईईईईईईईईईईईईईईईईईई..राईट से लेफ़्ट , लेफ़्ट से राईट

फ़िर पुर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्र

 सडप सडप ..भी करें उसके बाद

फ़िर पुर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्र

फ़िर रुकिए थोडा, सुस्ताने के लिए

फ़िर पुर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्र

फ़िर सबसे लास्ट वाला ईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई...


और इस तरह से ई प्रोसीज़र को रिठेलमेंट करते रहिए ..जोर लगा के हईशा



9 टिप्‍पणियां:

  1. "और इस तरह से ई प्रोसीज़र को रिठेलमेंट करते रहिए ..जोर लगा के हईशा..."

    जो आज्ञा देवी जी ... ;-)

    उत्तर देंहटाएं
  2. चुलबुलिया कि भतीजी बुलबुलिया को एतना टाईम लगता है मुह धोने में? ऊ सड़प-सड़प के प्रोसेस में कुछ खाईयो जाती है का? :D

    उत्तर देंहटाएं
  3. seekho bhai sheekho personal hygiene kitni jarurii haen

    bravo bulbul

    उत्तर देंहटाएं
  4. कमाल हैं ....ऐसे भी लिखा जा सकता हैं ......जय हो

    उत्तर देंहटाएं